टेलीफोन पर बात-चीत में ध्यान रखें सामान्य शिष्टाचार | Hindi Article On Good Manners on the Phone |

शिष्टाचार न सिर्फ आपके व्यक्तित्व को निखरता है बल्कि आपको और भी आकर्षक बनता है | आप दूसरों के लिए प्रेरणा के स्रोत भी बनते हैं | जीवन के हर पहलू पर अगर आप कुछ सामान्य शिष्टाचार का पालन करें तो अपने व्यक्तित्व पर चार चाँद लगा सकते हैं |

 
दूरसंचार के साधनों जैसे मोबाइल, टेलेफोन से तो हमेशा रु-बरु होते हैं, लेकिन अगर हम उनमे शिष्टाचार को भी शामिल कर दे को क्या बात है ! टेलिफोन और मोबाईल पर बात करते समय निम्नलिखित सामान्य <>शिष्टाचार का पालन कर हम आपने बात-चीत दे ढंग को और भी बेहतर नहा सकते हैं |
  • भरसक प्रयास करें की तीसरी घंटी बजने से पहले फोन उठा लें.
  • सबसे पहले हैलो या नमस्कार कहते हुए अभिवादन जरूर करें तथा अपना परिचय दें(अगर अंजान व्यक्ति से बात कर रहे हों ).
  • आगे बातचीत जारी करने से पहले (आपने फोन किया हो तब तो अवश्य ही) सामने वाले का परिचय ले लें. जैसे, ” मैं फलां बोल रहा हूँ, क्या मैं जान सकता हूँ मैं किससे बात कर रहा हूँ?”
  • बातचीत के दौरान आवाज व भाषा सौम्य रखें.
  • सामने वाले की बात बिना बाधा डाले सुनें, उसकी बात पूरी होने के बाद ही बोलें|
  • होल्ड (प्रतिक्षा) पर रखने से पहले सामने वाले व्यक्ति से अनुमति लें तथा होल्ड अथवा म्यूट  बटन दबाना न भूले वरना अनजाने में ही इस तरफ हो रहा वार्तालाप दुसरी तरफ सुनाई देता रहेगा.
  • होल्ड पर रखे हुए को ज्यादा समय लग रहा हो तो उसे भूले नहीं, बीच बीच में पूछते रहें की उन्हे कोई परेशानी तो नहीं, थोड़ा समय लग सकता है.
  • कॉल ट्रांसफर (स्थानांतरित)करते समय सामने वाले व्यक्ति को बता दें की आप किस व्यक्ति के वहाँ ट्रांसफर कर रहें है.
  • जिसके पास ट्रांसफर किया है उन्हे भी पहले बताये की किसका फोन है, जिसेके लिए आप कोल ट्रांसफर करना चाहते है.
  • अगर गलत नम्बर पर कॉल हो गया है तो सामने वाले को इससे हुई परेशानी के लिए क्षमा अवश्य मांगे.
  • किसी को कॉल का समय दिया हो तो समय पर फोन करें, वरना कोई आपके कॉल की प्रतिक्षा में अपना समय नष्ट कर रहा होगा.
  • सम्भव हो तो बाहर जाते समय फोन को वोइसमेल पर कर दें, या अपने पर कॉल ट्रांसफर कर लें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *