अमीर कैसे बने how to become rich ?

अमीर  कैसे  बने how to become rich ?

हम  सभी  लोग  अपनी  जिन्दगी  में  आगे  बढ़ना  चाहते  हैं ,अमीर  बनना  चाहते  हैं । मगर  बड़ा  सवाल  यह  है  कि हम  अमीर  कैसे  बने ?

आज  मैं  इस  पोस्ट  में  आपको  कुछ  टिप्स  दूंगा , जो  आपको  अमीर  बनने  में  मदद  करेगें  । यह  टिप्स  बहुत  ही सरल  है,  लेकिन  यह  जरूरी  नहीं ,जो  सरल  हो  वह  चीजें  काम  कि  ना  हो । कभी – कभी  छोटी  चीजें  ही  बड़े परिणाम  दे  देती  है ।

आप  मानों  या  ना  मानों  एक  बात  पक्की  है, कि  आप  पहले  से  अमीर  हो । यदि  आपको  मेरी  बात  पर  भरोसा  न  हो  तो  आप  www.globalrichlist.com  पर  जा  कर , जब  आप  साल  भर  कि  अपनी  कमाई  ( इनकम ) भरेंगे । मान  लो  आप  सिर्फ  महिने  का  10,000 रूपय  कमाते  है,  इसका  मतलब  साल  का 1,20,000  रू  जब आप  भरेगें  तो  आप  पाएगें , कि  आप  दुनिया  के  पहले  20 प्रतिशत  अमीर  लोगों  में  आ  जाएगें । दुनिया  के  80 प्रतिशत  लोग  अभी  भी  आपसे  पीछे  होगें ।

नियम – 1

अमीर  बनने  के  लिए  सबसे  पहले  आपको  आपके  काम  करने  के  तरिके  को  बदलना  पड़ेगा  क्योंकि  ” जो  अाप अभी  तक  करते  आए  है  और  वहीं  आगे  भी  करते  रहेगे,  तो  आपको  वही  मिलेगा  जो  आप  को  अभी  तक मिला  है । अगर  आपको  चाहिए  वो  जो  अभी  तक  नहीं  मिला  है,  तो  आप  करो  वो  जो  अभी  तक  नहीं  किया ।” आपको  hard wark  के  साथ – साथ  smart work  भी  करना  होगा । भले  ही  हम  सब  के  पास  एक  जैसी परिस्थितिया  न  हो  लेकिन  हम  सब  के  पास  24 घन्टे  बराबर – बराबर  है,  चाहे  वो  अमिताब बच्चन  हो , अनिल अंबानी  हो, अब्रहम लिंकन  हो  यही  24 घन्टे  का  उपयोग  तय  करते  है। आप  अभी  कहाँ  है  और  कल  कहाँ  होगें । यदि  हम  अपने  24 घन्टे  का  अच्छे  से  उपयोग  करे  तो  हम  जहाँ  पहुंचना  चाहते  है,  वहां  पहुँच  सकते  है । हमेशा  एक  बात  याद  रखिए  ” shot cut  कुछ  भी  नहीं  होता  है,  हमेशा  sure cut  होता  है ।”  मेरी  टिप्स  भी sure cut  है  मतलब  यह  कोई  स्किम  या  कोई  बिजनस  आइडिया  नहीं  है , कि  मैं  आप  से  कहुँगा  कि  आप  एक  MLM कम्पनी  से  जुड़  जाए  या  आप  यह  शेयर  खरीद  ले  और  आप  रातो  रात  अमीर  बन  जाएगे ।

यह  एक  Time tested  tips  है  बड़े  से  बड़े  लोग  चाहे  वो  अंबानी  हो ,अमिताब  हो ,या  बिल गेट  हो  इन  सभी ने  अपनी  जिन्दगी  में  जूते  घिसे  है , पसीना  बहाया  है  मतलब  मेहनत  कि  है  और  तभी  जाकर  उनको  सफलता मिली  है  और  वह  अमीर  बने  है । आज  भी  वह  14 से 18  घन्टे  काम  करते  है । हमें  यह  समझना  जरूरी  है , कि हमारी  जिन्दगीं  में  जो  समय  बर्बाद  करने  वाली  चींजो  को  हमे  छोड़ना  होगा,  हो  सकता  है  वह  किसी  के  लिए what’s app  हो  तो  किसी  के  लिए  Facebook , game  और  T.V.  हो  सकता  है । यह  जरूरी  है  कि  आप इन्हें  अपनी  जिन्दगी  से  हटाएं । आपको  अपनी  जिन्दगी  में  वही  काम  करना  है,  जो  आपको अधिक  से  अधिक रिजल्ट  दे ” 80 प्रतिशत  हम  वो  काम  करते  है  जो  हमें  सिर्फ  20 प्रतिशत  ही  रिजल्ट  देते  है , जबकि  हमें  20 प्रतिशत  वह  काम  करने  चाहिए , जो  हमारी  जिन्दगीं  को  80 प्रतिशत  बदल  देते  हैं ।”  मैं  चाहता  हूँ  कि  आप  आज  अभी  इसी  वक्त  वह  20 प्रतिशत  कामों  कि  लिस्ट  बनाए  जो  आपको  80 प्रतिशत  रिजल्ट  दे ।  इसके  लिए आप  चाहे  तो  अपने  मोबाईल  में  एक  हर  1 घन्टे  का  अलार्म  लगा  ले  और  एक  चार्ट  बनाए , जिसमें  आपके  18 घन्टे  कि  लिस्ट  कि  सूची  हो , जब  हर  घन्टे  वह  अलार्म  बजेगा । तब  आपको  इस  चार्ट  में  अपने  पिछले  1घन्टे  के  किये  कामों  को  लिख  ले ।  ऐसा  आपको  7 दिन  तक  लगातार  करना  है , इससे  आपको  आपके  महत्वपूर्ण काम  के  बारे  में  पता  चला  जाएगा  और  आप  कहाँ  पर  समय  बर्बाद  कर  रहे  है,  वह  भी  पता  चलेगा । कभी कभी  एेसा  होगा  कि  अलार्म  बजेगा  और  आपको  हैरानी  होगी  कि  आपका  समय  कब  निकल  गया  और  आपने कुछ  किया  भी  नहीं । जब  आप  समय  का  सही  उपयोग  करेंगे  तो  आप  बाकी  लोगों  से  आगे  निकल  जाएगे  वक्त  जरूर  लगेगा,  लेकिन  सफलता  पक्की  है ।

नियम – 2
अपनी  गलतियों  से  सिखिए  और  आगे  बढ़ते  रहिए,  क्योंकि  ” रूका  हुआ  पानी  और  ढहरा  हुआ  इंसान  दोनों  सड़  जाते  है ।” जीत  और  हार  दोनों  जिन्दगी  का  भाग  है,  ” गिरना  हार  नहीं  है  गिर  कर  खड़े  न  होना  हार  है ।”  आपकी  हार  जितनी  बड़ी  होगी , आपकी  सफलता  उससे  दोगुनी  बड़ी  होगी  क्योंकि  आप  हार  कर  जीते  है  और और  ” हार  कर  जीतने  वाले  को  बाजीगर  कहते  है ।” हम  सभी  ने  अपनी  जिन्दगी  में  हार  देखी  है  सफल  से सफल  लोगों  ने  भी  बड़ी – बड़ी  हार  देखी  है,  चाहे  वो  अमिताब  हो ,अब्रहम लिंकन  हो  या  फिर  थॉमस एडिसन  हो । ” सफल  लोगों  कभी  हारते  नहीं  है  या  तो  जीतते  है  या  कुछ  सिखते  है ” कि  हमें  क्या  नही  करना  है । हम में  से  बहुत  से  लोग  अपनी  हार  से  सिखते  नहीं  है  और  किसमत , भाग्य,  पत्नी,  ग्रह, परिस्थितियों  पर  अपनी  हार  का  दोष  डाल  देते  हैं । तो  दूसरा  नियम  यह  है  कि  हमें  कभी  भी  अपनी  हार  को  दूसरे  पर  नहीं  डालना  है ,क्योंकि  जब  आप  ऐसा  करते  हो  तो  आप  अपने  आप  को  जिम्मेदार  नहीं  समझते  हो । अपनी  जिन्दगी  कि  पूरी जिम्मेदारी  हमारी  है  और  किसी  कि  नहीं  आपनी  कमियों  को  ढूंढ  कर  उसे  सुधारे  और  आगे  बढ़े  क्योंकि  ” जिंदगी  एक  नाटक  है  जिसका  मतलब  ही  है  न आटक ।”  अगर  आप  अटक  गए  तो  आपके  लिए  न  समय रूकेगा , ना  दुनिया , इसके  लिए  आपको  एक  नियम  बनाना  होगा  कि  आप  कभी  भी

दो  शब्द  नहीं  कहेगे
1 – आज  मेरा  मन  नहीं  है
2 – बहाने
जो  आपने  निश्चिय  किया  है  उसे  हर  हाल  में  करना  ही  है । जब  आप  हारते  है  तो  आपका  मन  भी  नहीं  करता और  आप  बहाने  भी  बनाने  लगते  है  अगर  आपको  अमीर  बनना  है । तो  अमीर  लोग  जिस  तरह  से  सोचते, समझते  और  काम  करते  है , आपको  भी  उसी  तरह  से  करना  है । जो  लोग  सफल ,अमीर  और  विजेता  है  उनमें  एक  बात  तो  पक्की  है । कि  उनके  पास  बहाने  नहीं  होते  है ।
Example  –  सलमान खान  अपनी  फिल्मों  कि  शूटिंग  कि  तारीख  दो  साल  पहले  से  ही  बुक  कर  देते  हैं, जहाँ पर  वह  वादा  करते  है , कि  मैं  इस  तारीख , इस  महिने  और  इस  समय  इस  जगह  पर  रहुँगा । उन्हें  नही  पता  कि उस  दिन  उनका  मन  होगा  कि  नहीं , मौसम  ,समय  और  सेहत  साथ  देगी  कि  नहीं  लेकिन  एक  बार  जब  वह  कमिटमेन्ट  कर  देते  है  तो  फिर  वह  अपने  आप  कि  भी  नहीं  सुनते  और  उसे  हर  हाल  में  पूरा  करते  है । या  फिर  वह  विराट कोहली  और  सचिन  हो  जो  अपने  पिता  के  अंतिम  संस्कार  के  बाद  भी  अगले  दिन  अपनी  टीम को  जीताने  के  लिए  खेले  और  शतक  लगा  कर  अपनी  टीम  को  हारने  से  बचाया ।  यह  सब  भी  बोल  सकते  थे आज  मेरा  मन  नहीं  है । आपकी  जिन्दगी  में  भी  चुनौतिया , परेशानी,  मुसिबते  आएगी  लेकिन  आपको  रूकना  नहीं  है ।

नियम – 3
अपको  अपने  आप  को  अपडेट  और  अपग्रेड  रखना  है । ” पढ़े  लिखे  होने  से  अच्छा  है , पढ़ते  लिखते  रहना  क्यों कि  अनपढ़ वो  नहीं  है  जो  पढ़  नहीं  पाते  अनपढ़  तो  वह  है  जो  सिखना  नहीं  चाहते  है  ।”  आपको  अपनी पर्सनल  और  प्रोफेशनल  जिन्दगी  में आगे  बढ़ने  के  लिए  समय  निकालना  चाहिए,  कुछ  नया  करने  के  लिए  और  सिखने  के  लिए  यह  बहुत  जरूरी  है , क्योंकि  आज  अपके  पास  जो  भी  नॉलेज  है “आप  उसी  तरिके  से  काम  करते  है , जो  आपको  पता  है  लेकिन जो  आपको  नहीं  पता  है ।  वह  पता  चलता  है,  पढ़ाई  से  और  आप  पढ़ाई  करते  नहीं  है , तो  आप  तजूर्बे (Experience)  को  लेकर  जिन्दगीं  जिएगे  और  तजूर्बा  आपको  जहाँ  तक  ला  सकता  था , लाकर  खड़ा  कर चुका  है।”
Example – जब  हम  स्कूल  में  जाते  थे । तब  हम 7 – 8 विषय  पढ़ते  थे  लेकिन  हमें  नहीं  पता  था,  कि  हमें  कौन से  विषय  में  आगे  बढ़ना  है । लेकिन  इतना  पता  था  कि  यह  कभी  न  कभी  तो  काम  आने  वाले  है  और  आप किस  विषय  में  मास्टरी (मास्टर डिग्री ) करेगें  । बाकी  विषय  भी  जरूरी  थे  क्योंकि  यह  सब  उस  विषय  में  मदद जरूर  करते  है , अगर  आपको  कम्पयूटर  नहीं  आता  है।  तो  उसे  सिखने  के  लिए  क्लास  में  जाए  अगर  आपको C,  C++,  Java  नहीं  आती  तो  आप  उनकी  किताबे  खरीदे  और  प्रेक्टिस  करे । मैं  भी  खुद  को  अपडेट  और अपग्रेड  करने  के  लिए  1-2 घन्टे  book, audio, video अलग – अलग  विषय  पर| अॉफिस  से  थक  कर  आने  के बाद  रोज  रात  को  1 बजे  तक  पढ़ता , सुनता और  देखता  हूँ  और  सुबह  6 बजे  जाग  कर , 8 बजे  से  6 बजे  तक अॉफिस  में  काम  करता  हूँ । आपकी  कोई  भी  उम्र  हो  सिखना  बन्द  न  करे  क्योंकि ” सिखना  बंद  तो  जीतना  बंद । ” हम  जो  रोज  2-3 घन्टे  what’s app, facebook , और  लोगों  से  बाते  करने  में  समय  लगाते  है  उसे  कम कर  के  कुछ  नया  सिखने  में  लगाए । याद  रखिए  जब  भी  आप  अपने  Goal  के  तरफ  बढ़े  तो  आपकी प्राथमिकता  earnings  (कमाई)  पर  नहीं  learning  (पढ़ाई)  और  अनुभवों  पर  होना  चाहिए , और  जैसे – जैसे पढ़ाई  और  अनुभव  करते  है  आपकी  कीमत  बढ़ती  चली  जाती  है । जब  आप  किसी  विषय  को  10,000  से  भी ज्यादा  घन्टे  दे  देते  है  तो  फिर  आप  उस  विषय  में   genius  हो  जाते  है  और  जब  आप  उसे  20,000  घन्टे  दे देते  है  , तब  आप  Expert  बन  जाते  है  और  यही  अनुभव  जो  आपके  अलावा  किसी  और  में  नहीं  है  वह आपको  सफल, अमीर  और  महान  बनाता  है ।

नियम – 4
पैसों  का  कितना मैनेजमेन्ट – इससे  कोई  फर्क  नहीं  पड़ता  कि  आप  कमाते  कितना  है, फर्क  इससे  पड़ता  है  आप  बचाते कितना  है । यह  बहुत  जरूरी  है  कि  आप  सही  बजट  बना  कर  रखे  आपकी  आमदनी  और  खर्च  का  बजट  क्योंकि  पैसों  का  मेैनेजमेन्ट  बहुत  जरुरी  है ।
Example – kingfisher , Nokia , BlackBerry आप  कितना  भी  कमा  ले  बजट  होना  बहुत  जरूरी  है । जब आप  खर्च  का  हिसाब  करेगे  तब  आपको  पता  चलेगा  कि  आप  कहाँ – कहाँ   बिना  वजह  खर्च  और  खरीद  रहे  है जैसे  हम  online shopping  करते  है  तो  देखते  है , कि  कभी – कभी  वहाँ  पर  50% तक  छूट  होती  है  तो  हम खरीद  लेते  है  लेकिन  शायद  हमें  उस  समय  उस  चीज  कि  जरूरत  नहीं  थी । आप  सिर्फ  भावनाओ  में  आकर चीज  खरीद  लेते  है । वह  लोग  तो  हर  दिन  कुछ  न  कुछ  अॉफर  रखते  ही  रहेगें । जैसे  अगर  आप  एक  2 रू  का पेन  खरीदते  है , तो  वह  लिखने  के  काम  आता  है  अगर  क्वालिटी  चाहिए  तो  10 रू  का , लेकिन  जब  आप  एक Cross  पेन 1000 रू  का  लेते  है।  तो  वहा  आपके  पेन  के  साथ  भावना  जुड़ी  होती  है , कि  जब  में  यह  पेन  को रखूगाँ  तो  यह  अच्छा  लगेगा । जब  तक  आपके  पास  पैसे  नहीं  आ  जाते  है , आप  इस  प्रकार  कि  भावनाओ  में  न  आए  और  जरूरत  को  ध्यान  में  रखे  । जितना  ध्यान  आपका  जरूरत  पर  होगा  उतने  आपके  खर्च  कम  हो जाएगे । आपको  हमेशा  पता  होना  चाहिए  कि  आपके  पासबुक  और  पर्स  में  कितने  रूपय  है । क्या  आपको  पता है  आपके  पास  अभी  कितने  रूपय  है । मैं  आपको  एक  सलाह  देना  चाहता  हूँ  कि  जब  आप  अपने  पैसों  का बजट  बनाए  तब  आप  अलग – अलग  भागों  में  उसे  बाँट  दे  जैसे- बच्चों, परिवार, किराना, लाईफ स्टाईल  को  बेहतर बनाने  के  लिए  आदि  मैं  अपनी  इनकम  का  5  प्रतिशत  किताबों  आदि  में  लगाता  हूँ ।

नियम – 5 ( इनवेस्टमेंट )
हर  महिने  इनकम  कि  से  आप  अमीर  नहीं  बन  सकते  हैं । आप  जो  भी  कमा  रहे  है, उसे  एक  संपत्ती  में  बदले जैसे  मकान , दुकान , शेयर ,सोना, बीमा आदि  जब  आप  सो  भी  रहे  हो  या  काम  न  भी  करे  तो  भी  उसकी  कीमत  बढ़ती  जाए । क्यों  कि  जब  हमारी  जिन्दगीं  में  पैसा  आता  है  तो  खर्च  अपने  आप  बढ़  जाता  है । जैसे नया  मोबाईल, लैपटाप, कार, कपड़े ,रेस्टोरेन्ट  के  बिल  बढ़ेगें  मगर  इनसे  आपको  वापस  कितने  रूपय  आते  है शायद  बहुत  कम  अगर  आप  पैसों  को  बचा  कर  एक  लॉकर  में  10 साल  भी  रखेगें । तब  भी  वह  कम  ही  होगें क्योंकि  मंहगाई  तो  बढ़  रही  है । अगर  आप  उस  पैसो  को  कहीं  पर  लगाते  है, तब  शायद  उसकी  कीमत  10 साल  बाद  दोगुनी  हो  जाए । आप  जितनी  कम  उम्र  से  इनवेस्टमेंट  करेंगे  आप  उतनी  जल्दी  अमीर  बन  जाएगें । मैने  यह  बलॉग  को  लगभग  दो साल  पहले  शुरू  किया  था । उस  दिन  इसकी  कीमत  कुछ  भी  नहीं  थी , लेकिन आज  इसकी  पूरी  कीमत  1.5 लाख रू  कि  है । लोगों  कि  भीड़  से  बाहर  निकलने  के  लिए  अपनी  इनकम  को इनवेस्टमेंट  में  बदलिए , अगर  5 लाख  कि  कार  से  आपका  काम  हो  रहा  है , तो 15  लाख  कि  होन्डा सिटी  लेने कि  क्या  जरूरत  है। वह  10 लाख  आप  इनवेस्ट  करे  ताकि  भविष्य  में  आप  जेगुआर  ले  सके ।

नियम – 6
आपके  आस – पास  एेसे  बहुत  से  लोग  होगे  जो  आपके  रोकेगे,  टोकेगे , न  कहेगे , तुमसे  न  हो  पाएगा  मगर ” ऐसे  कार्य  को  जरूर  करना  चाहिए, जिसे  लोग  सोचते  हो  की  आप  नहीं  कर  सकते।” जब  आप  सफल  हो  जाते  है तब  वहीं  लोग  आपसे  बोलेगें  कि  मैंने  तो  पहले  ही  बोला  था । तू  एक  न  एक  दिन  जरूर  कुछ  बड़ा  करेगा । एेसे लोगों  कि  चिन्ता  मत  कीजिए ।

नियम – 7
बाँटना  (शेयर)  करना  सिखे  क्योंकि  ” छोटी  सोच  और  पैरों  कि  मोच  आपको  ज्यादा  आगे  जाने  नहीं  देती ” इसलिए  जरूरी  है,  आपके  आप  अगर  पैसा  और  नॉलेज  और  जो  कुछ  भी  है  उसे  शेयर  करे । आप  किसी  भी परिस्थितियों  में  शेयर  कर  सकते  है  क्योंकि  कुछ  न  होने  का  एहसास  हम  सभी  ने  कभी  न  कभी  जरूर  किया होगा । यह  बलॉग  और  IAS motivation story  फेसबुक  पेज  बनाने  के  पीछे  मेरा  एक  ही  मकसद  है  कि  मैं जो  जानता  हूं,  वह  में  लोगों  में  शेयर  करू  क्योंकि  खुशिया  बाँटने  से  बढ़ती  है ।

जब आप इन आसान नियम को अपनी जिन्दगीं में लागू करेगे तब धीरे -धीरे आपकी जिन्दगी, समाज, परिवार में बदलाव होगा ।

अमीर  कैसे  बने how to become rich ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *